सांप के काटने पर या डंक मरने पर सबसे सस्ता होम्योपैथीक और घरेलू उपचार

सांप के काटने पर snake bite
Spread the love

सांप के काटने पर या डंक मरने पर सबसे सस्ता होम्योपैथीक और घरेलू उपचार

दोस्तों आज हम बात करेंगे सांप के काटने पर क्या क्या होता है ? और अगर सांप काट ले या डंक मार दे तो क्या करना चाहिए ? मित्रो आज कल यह बात बहुत सुनने में आती है, कि फलानी जगह पर किस को सांप ने काट लिया ! या फिर हम आये दिन टीवी पर और अखवार में यह समाचार मिलते है कि सांप के काटने पर व्यक्ति की म्रत्यु हो गयी है !

सांप के काटने कि ज्यादा घटनाएं हमेशा गर्मियों में और बरसात के मौसम में ही होती हैं ! आपने देखा भी होगा कि जितने भी जहरीले जानवर होते हैं, सब गर्मियों में ही बिलों से बाहर निकलते हैं ! ऐसा इस लिए है क्योंकि से सब समतापी होते हैं, शर्दियों में इनका खून जम जाता है जिस कारण ये बाहर नही निकलते और इनके शरीर कि उर्जा भी उस समय कम हो जाती है, जिससे ये शांत रहते हैं !

मित्रो हर साल अकेले भारत में लग-भग 81000 लोगों को सांप काट लेतें है ! और सांप के काटने पर मरने वालों कि संख्या लग- भग 11000 तक होती है ! इसके अलावा पता नही दुनिया में सांप के काटने से कितने लोग मर जाते हैं !

लेकिन दोस्तों अब अगर सांप काट लेता है, तो इससे डरने कोई जरूरत नही है ! राजीव दीक्षित जी ने इसके बारे में बहुत अच्छा जानकारी दी  है ! दोस्तों भारत में लगभग 550 किस्मों के सांप पाए जाते हैं, जिनमे से जहरीले तो बहुत ही कम होते हैं ! सिर्फ 10 किस्मों के सांप ही जहरीले होते हैं ! और बाकि 540 किस्मों के सांप के काटने पर ज्यादा कुछ नही होता ! घबराने कई जरूरत नही और न ही कोई चिंता करने कई जरूरत ! लेकिन दोस्तों कई बार सांप के काटने पर भय इतना होता है कि सांप के काटने से नही बल्कि वह आदमी हार्ट अटेक से मर जाता है ! तो एैसे में घबराने कोई जरूरत नही, हम आपको सांप की सबसे जहरीली किस्मों के नाम यहाँ बता रहे हैं जिनके काटने से ज्यादा दिक्कत होती है ! तो ये नाम इस तरह से हैं-

सबसे ज्यादा जहरीले सांप जिनके काटने पर म्रत्यु हो जाती है  :-

1 सबसे ज्यादा खतरनाक और जहरीले सांपों में जो नम्बर एक पर आता है, वो हैं RUSSELS VIPER अगर इस सांप ने किसी को काट लिया है तो उसको बचाना बहुत ही मुश्किल होता है !

2 जो नम्बर दो पर है KARIT, इस सांप के काटने पर कभी भी कोई नही बच पाता ! इसका जहर बहुत ही तीव्र गति से शरीर में फैलता है ! जिस कर्ण हृदय गति रुक जाती है और व्यक्ति कि म्रत्यु हो जाती है !

3 जो नम्बर तीन पर है VIPER , जिस व्यक्ति को वाइपर काट ले तो वह व्यक्ति मुश्किल से 15 या 20 मिनट ही जिन्दा रह पाता है ! इस सांप का जहर बहुत ही जल्दी शरीर के सारे खून में फैल जाता है और जिस कारण व्यक्ति कि म्रत्यु हो जाती है !

4 इस लिस्ट में जिसको सबसे खतरनाक कि लिस्ट में रखा है वो है KING COBRA , जिसको हम काला नाग के नाम से भी बूलाते हैं ! इस सांप के काटने पर इसके जहर का असर सीधा दिमाग पर होता है, जिससे व्यक्ति कि मोत हो जाती है !

अगर इन चारों में से किसी ने भी काट लिया है तो मोत निश्चित है ! कोई एक आध व्यक्ति जिसकी किस्मत बहुत ज्यादा अच्छी है, सायद इनसे बच पाया हो !

सांप के काटने पर लक्ष्ण :-

1 सांप के काटने पर सबसे पहला लक्ष्ण है उसके काटने का निशान ! जिस जगह सांप ने काटा है वहाँ पर दो बिंदु जैसे निशान बन जाते हैं ! और उस जगह पर लालिमा भी आ जाती है !

2 जिस जगह सांप ने काटा है वहाँ पर सुजन आजाती है ओए असहनीय दर्द या पीड़ा भी हो सकती है !

3 सांप के काटने पर व्यक्ति बेशुध होने लगता है ! और उसको बहुत ज्यादा नींद चड़ने लगती है !

4 जहरीले सांप के काटने पर व्यक्ति कि आँखें बन्द होने लगती हैं, और वह पलकें झपकने लगता है !                                                     उसको नशा जैसा महसूस होने लगता है !

5 सांप के काटने से वह बोतले हुए तुतलाने लगता है और गिनती भी सही ढंग से नही कर पाता ! ये सारे लक्ष्ण सांप के काटने पर होते हैं !

6 यदि आप सांप को काटते हुए देख लेते हैं तो इससे आपको बहुत ज्यादा डर लगने लगता है जिस कारण आपकी हार्ट बीट बहुत ज्यादा बढ़ जाती है ! और इससे हार्ट अटैक आने के चान्स बढ़ जाते हैं !

इसे भी पढ़ें :- कुते के काटने पर आसान घरेलू उपचार

सांप के काटने के निशान से पता चलता है साँप जहरीला है या नही :-

आप देखेंगे कि जब सांप के काटने पर सिर्फ दो बिन्दु के निशान हों तो यह निश्चय कि कोई बहुत जहरीला सांप हो सकता है ! लेकिन इसके विपरीत अगर सांप एक से ज्यादा बार काटे, या काटने कि कौशिस करे, तो यह बिना जहर का या फिर कम जहरीला सांप होता है ! क्योंकि जो जहरीला सांप होता है, वह एक बार में ही बहुत सारा जहर शरीर में छोड़ देता है ! जिससे उस व्यक्ति या जानवर कि मोत तुरंत हो जाती है ! लेकिन कम जहर वाला सांप एक बार में किसी को नही बार सकता तो वह बार बार काटने या डंक मरने कि कौशिस करता है !

सांप अधिकतर किन जगहों पर काटते हैं ? :-

यदि आपने एक से अधिक सांप के काटे व्यक्ति को देखा है, तो आप आराम से यह बता सकते हैं कि सांप अधिकतर किन जगहों पर काटते हैं ! फिर भी हम यहाँ आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं ! सांप ज्यादातर पैर से लेकर घुटने तक और बाहों पर काटते हैं ! इसका मुख्य कारण हमारे शरीर के ये अंग उसके ज्यादा नजदीक होते हैं ! और इसमें 70 % पैरों पर और 30 % हाथों या बाहों पर काटने के आसार होते हैं !

सांप के काटने कि समस्या महिलाओं कि बजाए पुरुषों में ज्यादा होती है ! क्योंकि पुरुष घर के बाहर काम करते हैं ! यह समस्या शहरों कि बजाए गाँवों में ज्यादा होती है, क्योंकि वहाँ पर अधिकतर लोग खेतों में काम करते हैं ! और सांप भी खेतों में ही सबसे ज्यादा होता है ! क्योंकि खेत में घास, पानी और बिल बहुत ज्यादा होते हैं ! यहाँ उसको पनपने कि जगह मिल जाती है !

सांप के विष या जहर कितने प्रकार का होता है ? :-

सांप का विष दो प्रकार का होता है :-

1 ह्म्रेजिक विष :- जब किसी भी व्यक्ति को ह्म्रेजिक विष का सांप काट लेता है, तो कुछ ही समय बाद काटी हुई जगह के आस – पास और कभी कभार पुरे शरीर पर फफोले हो जाते हैं ! ह्म्रेजिक के नाम से ही पता चलता है कि यह खून को जमाने वाला होता है ! जिस कारण कई बार नाक और मुहं से ब्लीडिंग हने लगती है ! जिस हाथ या पाँव पर ऐसे साँप के काटने पर वह अंग नीला होकर फुल जाता है ! यह सब लक्ष्ण सिफर एक से दो घण्टे में ही होने लगते है !

इससे कुछ और समय के बाद पूरा शरीर फूल जाता है, और स्किन के टिसु जम कर फटने लगते हैं ! इस तरह के सांप के काटने पर व्यक्ति कि किडनी फेलियर के कारण म्रत्यु हो जाती है ! लेकिन आपके पास इसमें इतना समय रहता है कि आप मरीज को होस्पिटल ले जाएं, जिससे उसकी जान बचाई जा सके !

2 न्युर्ल्जिक विष :- ऐसे विष वाले सांप बहुत ही ज्यादा खतरनाक होते हैं ! मान लीजिये कि सांप ने आपके हाथ पर काटा है तो सबसे पहले आपका हाथ ही बिलकुल सून हो जाएगा ! इसके काटने पर लकवा मार जाता है ! इसके कुछ ही समय बाद यह विष सीधा गले को बन्द कर देता है जिससे साँस लेने में भी दिक्कत हो जाती है ! ऐसे सांप के काटने पर कभी कभी मरीज कोमा में भी चला जाता है, और बाद में उसकी मोत हो जाती है !

सांप के काटने पर प्राथमिक या घरेलू उपचार :-

मित्रो हम अपनी थोड़ी सी सूज – भुज का इस्तेमाल करें, तो हम रोगी की जान बचा सकते हैं ! इसमें होश्यारी क्या दिखनी हैं ? जब कभी भी किसी को सांप काटता है ! तो उस व्यक्ति के शरीर पर दो दन्त के निशान मिलते है, जहाँ सांप ने कटा है ! सबसे पहले हमे वह निशान ढूढना है, और उस निशान को ढूनढना आसान है ! क्योंकि सांप के काटने पर वहाँ सुजन आ जाती है शरीर का वो स्थान लाल हो जाता है ! जब सांप अपना जहर शरीर में छोड़ देता है तो, यह जहर दिल की तरफ चड़ने लगता है ! यानि मान लीजिये कि पैर पर सांप ने काट लिया है, तो जहर उपर की तरफ बढ़ेगा ! और दिल के जरिये होते हुए सारे शरीर में फैल जाएगा !

इस पूरी प्रकिर्या को 3 घंटे का टाइम लगता है ! इस तरह हमारे पास 3 घंटे का टाइम होता है, उस आदमी की जान बचाने का ! इसमें आप क्या कर सकते हैं  ? आपके घर में या आस पास से कोई पुराना इंजेक्सन लीजिये, और इस की नीडल यानि सुई लगाने वाली जगह पर से काट लें तो यह एक सकसंन पम्प की तरह काम करेगा ! इसके बाद रोगी को जहाँ सांप ने काटा था इस खाली सृन्ज को उस जगह पर लगाकर, खीचने से उसमे खून भर जाएगा और आप देखेंगे की यह खून black ब्लेक या dark black डार्क ब्लेक हो जाता है !  एैसे सांप का सारा जहर निकल जाएगा क्योकि सांप मुश्किल से आदमी के शरीर में 0.5 से 0.6 मिलीग्राम जहर ही छोड़ता है !

इस लिए हम दो या तीन बार जब यह इंजेक्सन से खून बाहर खेंच लेते हैं ! इससे मरीज में बदलाव आने लगते हैं ! अक्सर जब किसी भी व्यक्ति को सांप काट लेता है, तो वह व्यक्ति बेहोश हो जाता है ! लेकिन जब हम उसका खून बहर खेच लेते हैं, वह व्यक्ति होश में आने लगता है ! एैसा करके आप उस की प्राथमिक सहयता कर सकते हैं !

सांप के काटने पर होम्योपैथी दवाई और उपचार :-

होम्योपैथी में इसका बहुत ही सस्ता और सरल उपचार उपलब्ध है ! दोस्तों अगर आप चाहें तो इस होम्योपैथी दवा को अपने घर पर भी रख सकते हैं ! यह बहुत ही सस्ती है जिसका नाम है NAJA नाजा ! यह किसी भी होम्योपैथी दुकान पर आसानी से मिल जाती है ! और यह बहुत सस्ती भी होती है ! इसकी पोटेंसी 200 है, यानि पूरा नाम नाजा दो सो NAJA 200 है ! 5 मिलीलीटर की बोतल घर पर खरीद कर रख लीजिये और यह 100 आदमियों कई जान बचा सक्ति है ! 100 ML की बोतल मुश्किल से 70 या 80 रुपए की होती है !

नाजा 200 लेने कि विधि Dose of Naja 200 medicine

इस दवाई को देने कई विधि भी बहुत आसान है, NAJA 200 की एक बूंद सीधा जीभ पर डाल दीजिये ! और एैसे ही हर 10 मिनट के बाद तीन बार  करना है, यानि आधे घंटे में तीन बार देनी है ! बस आपका मरीज ठीक हो जाएगा !  राजीव दीक्षित जी कहते हैं, कि यह होम्योपैथी दवा एलोपैथी से लाख गुना ज्यादा बहतर है ! यह सिर्फ 10 रुपए में आप अपने मरीज को ठीक कर सकते हो ! मित्रो यह NAJA 200 केवल कोबरा या किंग कोबरा सांप के काटने पर ही काम करती है ! अन्य पर इसका असर नही होता !

इसे भी पढ़ें :- हृदय घात और 15 घातक बिमारियों के लिए सबसे उतम औषधि 

सांप के काटने पर क्या करें ? और क्या ना करें ?

क्या करें ? दोस्तों सांप के काटने पर कभी भी डरना या घबराना नही चाहिए ! हमे अपने डर पर काबू रखना चाहिए, क्योंकि सांप के काटने पर कई बार डर के कारण हार्ट अटैक से भी म्रत्यु हो जाती है ! जिस भी जगह सांप ने कटा है, उस अंग पर किसी तेज धार वाले ब्लेड या चाकू से थोडा कट मार दें ! जितना हो सके खून बाहर निकल दो ! जिस भी अंग पर सांप ने कटा है, उसको तुरन किसी कपड़े या रस्सी से कसकर बाँध दें ! जिससे विष हमारे हृदय तक और शरीर के अन्य अंगों पर असर न कर सके !

सांप कि पहचान करने कि कौशिस करें, या अपने फोन से उसका एक या दो फोटो ले लें ! जिससे उसकी पहचान करना आसान हो जाए ! और जब हम मरीज को डॉक्टर के पास लेकर जाएं तो यह फोटो डॉक्टर को जरुर दिखाएं ! ताकि डोक्टर यह समझ ले कि किस तरह के सांप ने मरीज को काटा है ! इससे डोक्टर तुरंत उस सांप का एंटी वेनम या एंटी स्नेक उस व्यक्ति को बिना समय गवाए लगा सके, और उस मरीज कि या उस व्यक्ति कि जान बचाई जा सके !

जिसको सांप ने काट लिया है बिना देरी किये किसी छोटे – मोटे होस्पिटल में न लेजाकर सीधा डिस्टिक होस्पिटल ले जाएं, क्योंकि जो एंटी वेनम या एंटी स्नेक बाईट दवाई है वो सरकारी होस्पिटल में ही उपलब्ध होती हैं ! इस लिए किसी भी प्राइवेट होस्पिटल में जाकर अपना समय और पैसा बर्बाद न करें !

क्या ना करें ? सांप के काटने पर फजूल में समय बर्बाद न करें, और न ही किसी झाड फूंक के चक्कर में पड़ें ! अगर होस्पिटल दूर है तो फर्स्टऐड दें, जिससे मरीज को कुछ समय मिल सके ! नही तो मरीज को सीधा डिस्टिक हॉस्पिटल ले जाएं !

दोस्तों आशा है कि आप सभी को यह जानकारी अच्छी लगी होगी ! सांप के काटने पर यह तरीका अपनाकर, आप किसी अपने और पड़ोसी की भी जान और पैसा दोनों बचा सकते हैं ! पूरा पोस्ट पढने के लिए धन्यवाद !

अधिक जानकारी के लिए राजीव दीक्षित जी का यह वीडियो जरुर देखें >>

मित्रो जन-जागरण और जन कल्याण के लिए इसे अपने Facebook और WhatsApp पर अवश्य शेयर करें !

एैसी ही अच्छी – अच्छी जानकारी के लिए Like करें हमारे पेज Rajiv Dixit Patrika को।

और एैसी ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए, हमारा फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करें क्लिक करें जीवन का आधार आयुर्वेद पर ! धन्यवाद  

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2019 Rajiv Dixit Patrika |