ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) कम होने से बचने के लिए करें इन चीजों का प्रयोग

ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) क्या
Spread the love

ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) कम होने से बचने के लिए करें इन चीजों का प्रयोग

मित्रो हम पहले यह जान लेते हैं कि ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) क्या होतो हैं? यह हमारे शरीर में खून बनाने में बहुत हदतक जिमेवार होते हैं ! जिनको लाल रक्त कणिकाएँ और प्लमा से भी जाना जाता  है ! बुखार के कारण मरीज के शरीर में रोग प्रतीक रोधक अक्षमता  कम होने लगती है जिस कारण शरीर कमजोर होने लगता है ! और इसी कारण ब्लड प्लेटल्ट्स कम हो जाते हैं ! सामान्य तौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 5 से 6 लिटर रक्त होता है !

यह ब्लड लाल रक्त कणिकाओं और स्वेत रक्त कणिकाओं व अन्य तरल पदार्थों के मेल से बना होता है ! लाल रक्त कणिकाएँ ही आक्सीजन को पुरे शरीर में प्रवाहित करने का काम करती हैं ! और स्वेत रक्त कणिकाएँ हमे किसी भी बाहरी और आंतरिक इन्फेक्शन से बचाती हैं ! सामान्य तौर पर किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के एक मिलीलीटर खून में 150000 से  400000 ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets)  होते हैं !

ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) घटने से क्या हो सकता है :-

दोस्तों ये ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) हर बार घटे नही कभी कभी यह बहुत अधिक बढ़ भी जाते है ! पर एसा बहुत ही कम होता है ! लेकिन अगर बहुत अधिक बढ़ जाते है तो भी कोई न कोई समस्या हो सकती है ! इस इनको मेंटेन रखना जरूरी होता है ! ब्लड प्लेटलेट्स (Blood Platelets) के घटने की प्रकिर्या को डोक्टरी भाषा में थ्रमबोसाइटोंपेनिया कहा जाता है ! ब्लड प्लेटलेट्स  का सबसे निचला स्तर होता है 10000 काउंट ! यदि प्लेटलेट्स सैल्स इससे निचे चले जाते हैं तो बहुत बड़ी समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि :-

ब्लीडिंग होना :- जब ब्लड प्लेटल्ट्स बहुत अधिक कम हो जाते हैं तो हमे नाक, कान या मुहँ और अन्य जगह से रक्त रिसाव हो सकता है !

अन्य दुष्परिणाम :-

जब ब्लड प्लेटलेट्स बहुत अधिक कम हो जाते हैं तो बाहरी रिसाव को तो हम देख सकते हैं लेकिन कई बार शरीर के अंदर भी खून का रिसाव हो सकता है ! और जिक्से परिणाम स्वरूप किडनी, लीवर और फेफड़े में खून इक्कठा जाता है ! और इस कारण ये सभी अंग काम करना बन्द कर देते हैं ! जिस कारण कई बार मरीज की म्रत्यु भी हो सकती है !

ब्लड प्लेटलेट्स और इम्युनिटी को बढाने के उपाय :-

कई बार डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों से बचे रहने के लिए, शारीरिक की रोग प्रतिरोधक अक्षमता को बढ़ाना बहुत आवश्यक होता  है ! इन बीमारियों में ब्लड प्लेटलेट्स तेजी से कम होने लगते हैं ! व शरीर की कमजोरी के कारण कई बार स्थिति गंभीर हो जाती है ! और इस स्थिति से बचने के लिए हमे अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए ! और कुछ अन्य चीजें यहाँ पर दर्शाई गई हैं ! जिनका सेवन करके हम डेंगू और चिकनगुनिया जैसे बुखारों से बच सकते हैं :-

इसे भी पढ़ें :- रोगों से लड़ने वाली औषधियां हमारे घर पर ही मौजूद हैं इनका प्रयोग सीखें 

आशा है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी, तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook और WhatsApp पर अवश्य शेयर करें !

एैसी ही अच्छी – अच्छी जानकारी के लिए Like करें हमारे पेज Rajiv Dixit Patrika को।

और एैसी ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए ग्रुप ज्वाइन करें। जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें जीवन का आधार आयुर्वेद पर ! धन्यवाद  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2019 Rajiv Dixit Patrika |