गेहूँ के ज्वारे wheatgrass के 20 फायदे ! यह 100 से भी ज्यादा बीमारियाँ ठीक करता है

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass
Spread the love

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass के 20 फायदे | यह 100 से भी ज्यादा बिमारियों को ठीक करता है !

गेहूँ के ज्वारे wheatgras में वह हर तत्व पाया जाता है ! जो मानव शरीर के लिए जरूरी सभी तरह के पोषक तत्वों से भरपूर है ! एैसा विज्ञानं कहता है कि मानव शरीर को सुचारू रूप से काम करने के लिए 115 तरह के तत्वों को आवश्यकता होती है ! और इनमे से लगभग 95 तत्व हम अकेले गेहूँ के ज्वारे wheatgrass के ही प्राप्त कर सकते हैं ! वो सब इसमें मौजूद होते हैं, इसमें किसी भी अन्य चीज को मिलाने की आवश्यकता नही होती !

मित्रो एलोपैथी के विपरीत आयुर्वेद की जो भी औषधियाँ होती हैं ! उनको हम अपने दैनिक जीवन में, अपने भोजन से ही ग्रहण करते रहते हैं ! और ये सारी औषधियाँ अपने आप अपना काम करती रहती हैं ! हमे इस बात का पता भी नही होता ! क्योंकि प्रक्रति ने ही हमारे शरीर की रचना की है ! और यदि हम शुद्ध सात्विक भोजन लेते हैं, तो बीमार होने के चान्स बहुत ही कम होते हैं ! लेकिन कभी – कभी जब कोई महामारी और विशेष तरह की बीमारी आ जाती है ! फिर उसके लिए हमे विशेष औषधि का प्रयोग करना ही पड़ता है ! गेहूँ के ज्वारे wheatgrass  भी एक उतम औषधि हैं ! आये इनके बारे में जान लेते हैं कि ये कितनी बिमारियों में को ठीक कर सकते हैं !

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass के लाभ | Benefits of wheatgrass

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का पूरा लाभ लेने के लिए इसके लेने का समय भी हमे बिलकुल जरुर ध्यान में रखना है ! मित्रो इसकी तासीर बहुत ठंडी होती है, इस लिए इसको हमेशा गर्मियों में ही प्रयोग करें ! इसमें बहुत सारे तत्व होते हैं, हम एक – एक करके इनके बारे में बात कर लेते हैं !

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass कैलिशिय्म की कमी को दूर करते हैं  | Wheatgrass benefits in Calcium deficiency                                                    

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass में कैलिशिय्म बहुत ही अच्छी मात्रा में पाया जाता है ! जिनको भी कैलिशिय्म की कमी है, यह उनके लिए रामबाण औषधि  हैं ! मित्रो यह कोई आम कैलिशिय्म नही यह बहुत ही उतम क्वालती का होता है ! जब किसी को पथरी की समस्या हो जाती है, तो डॉक्टर उसको कैलिशिय्म के लिए मना करते हैं ! क्योंकि इससे पथरी की समस्या बढने लगती है ! लेकिन गेहूँ के ज्वारे wheat grass की यह कैलिशिय्म उस मरीज के लिए बहुत ही उतम है ! इस कैलिशिय्म से उसको कोई नुकशान नही होता और कैलिशिय्म की पूर्ति हो जाती है !

2 आयरन की कमी को दूर करता है | Wheatgrass benefits in Iron deficiency

मित्रो गेहूँ के ज्वारे wheatgrass में आयरन की मात्रा भी बहुत अच्छी होती है! जिससे शरीर में आयरन की कमी है, उसके लिए इससे अच्छी कोई दवाई या  औषधि नही हो सकती ! जब शरीर में आयरन की कमी हो तो शरीर की सारी शक्तियाँ अपना काम बन्द कर देती हैं ! लेकिन यह आयरन की कमी को दूर करता है, और शरीर में खुन की कमी को पूरा करता है !

3 गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का पथरी की समस्या लाभ | Wheatgrass benefits in Stone problem

गेहूँ के ज्वारे पथरी की समस्या को भी खत्म कर देते हैं ! क्योंकि यह एक क्लींजिंग प्रोडक्ट हैं और यह शरीर को साफ करने का काम करता है ! तो इस तरह यह पथरी को निकालने की एक उतम औषधि है ! पथरी कर मरीज के लिए कैलिशिय्म कितनी घातक होती है, यह सब जानते हैं जिनको पथरी की समस्या है ! और इसके बारे में हम उपर बात कर चुके हैं कि आपको इससे कैलिशिय्म भी प्राप्त होता है ! जो पथरी के रोगी के लिए सबसे अच्छी होती है !

4 प्रोटीन की कमी में लाभदायक | Wheatgrass benefits in deficiency of Protein

इसमें बहुत ही उतम क्वालटी का प्रोटीन होता है, जो पचने में बहुत ही आसान होता है ! जिनका लीवर कमजोर है, और वे बाहर का हैवी प्रोटीन पचा नही पाते उनके लिए तो यह बहुत ही अच्छा है ! जो लोग जिम करते हैं, या फिर अन्य तरह की एक्सरसाइज और व्यायाम करते हैं उनके लिए भी यह बहुत ही उपयोगी होता है !

5 क्लोरोफिल कि कमी को दूर करता है | Wheatgrass benefits in deficiency of chlorophyll

यह तत्व हमे हरे रंग की चीजों से ज्यादा मात्रा में प्राप्त होता है ! इसलिए यह गेहूँ के ज्वारे wheatgrass में सबसे ज्यादा मात्रा में और अच्छी क्वालटी का होता है ! इसका काम शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाना होता है ! यानि यह HB और WBC को भी बढ़ता है !

6 डेंगू बुखार की सबसे अच्छी दवाई | Wheatgrass benefits in Improving the platelets in dengue fever

दोस्तों जब भी किसी को कोई भी बुखार होता है, तो उसमे HB और WBC का बहुत बड़ा रोल होता है ! बुखार को ठीक करने के लिए जब भी आप किसी डॉक्टर के पास जाते हैं, तो वो सबसे पहले हमारे खून की जाँच करवाता है, और देखता है कि कहीं HB या WBC तो कम नही यानि प्लेटलेट्स तो कम नही है ! डॉक्टर इसी आधार पर ट्रीटमेंट भी करते हैं ! और हमे प्लेटलेट्स को बढ़ाने वाली दवाएं भी देते हैं ! लेकिन अगर हम तीन से चार दिन लगातार गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का रस या जूस बनाकर पी लें तो यह कमी दूर हो जाती है और बुखार भी ठीक हो जाता है ! गेहूँ के ज्वारे wheatgrass प्लेटलेट्स को बढ़ाने की सबसे उतम औषधि हैं ! यह हर तरह के बुखार में दिया जा सकता है !

7 कैंसर में लाभदायक   | Wheatgrass benefits in cancer                    

यह कैंसर के रोगियों के लिए बहुत ही अच्छी औषधि है ! गेहूँ के ज्वारे  wheatgrass हर तरह की कैंसर के लिए उपयोगी होते हैं ! क्योंकि यह बहुत ही अच्छा बॉडी डीटोकस प्रोडक्ट है, तो यह कैंसर के वायरस को शरीर के बाहर करने में बहुत ज्यादा साहयता करता है !

ध्यान रखने योग्य बात :- इसको हम ब्लड कैंसर में प्रयोग नही कर सकते !

8 विटामिन C का स्रोत | Wheatgrass benefits in deficiency of vitamin C      

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass में विटामिन C की बहुत अच्छी मात्रा होती है ! जिन लोगों को विटामिन C की आवश्यकता है, उनके लिए यह सबसे उतम औषधि है ! जो लोग खट्टी चीजों का सेवन नही कर सकते, यानि खट्टी चीजें उनका एसिड बढ़ा देती हैं ! जिससे उनको विटामिन C की कमी रहती है ! इसके लिए  आप गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का प्रयोग बे जिज्क कर कसते हैं ! इससे आपको बहुत ही तुम क्वालिटी का विटामिन C  मिलता है !

9 आँखों में लाभदायक | Wheatgrass benefits in eye disease        

इसमें विटामिन A प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो हमारी आँखों के लिए सबसे आवश्यक तत्व होता है ! अगर आँखें हमेशा लाल रहती हैं तो इसका पेस्ट बनाकर कुछ समय तक आँखों पर लगाने से बहुत राहत मिलती है ! यदि आँखों में बहुत ड्राई हैं, आँखों के निचे डार्क सर्कल्स को भी यह ठीक कर देता है !

10 नस पर नस चड़ना | Wheat grass benefits in vein cramps

इसमें विटामिन E भी बहुत ही अच्छी मात्रा में होता है ! जो हमारे नर्व सिस्टम के लिए सबसे उपयोगी माना जाता है ! जिस को भी नस पर नस चड़ना, या शरीर में एंठन  होना, जिसको डॉक्टर Body Cramps भी कहते हैं ! वो सब इससे ठीक हो जाते हैं !

11 अल्सर में लाभदायक | Wheatgrass benefits in ulcer            

यह अल्सर में भी बहुत ही अच्छा काम करता है ! जैसे आँतों में जख्म होना, लगा हमेशा खराब रहना ! एसिड की अधिकता या फिर बार- बार खट्टी डकारे आना, सिने में जलन रहना आदि सभी समस्याओं से आपको यह निजत दिलाता है !

12 पीरियड्स प्रोब्लम्स | Wheatgrass benefits in periods problems

गेहूँ के ज्वारे wheat grass महवारी या पीरियड्स प्रोब्लम्स में भी बहुत ही लाभदायक होते हैं ! क्योंकि इनकी तासीर ठंडी है तो यह ओवर ब्लीडिंग को कम करते या रोकते हैं ! जिससे पीरियड्स के समय ज्यादा खून जाने की समस्या का निदान होता है ! इसके आलावा यह नाक से नकसीर आना यानि नाक से खून आना जो गर्मियों में ज्यादा होता है ! और दांतों से खून आना या पाईरिया रोग होना भी इससे ठीक हो जाता है !

13 लिकोरिया में लाभदायक | Wheatgrass benefits in Leucorrhoea

क्योंकि हम शुरू में ही यह बता चुके हैं की यह बहुत ही अच्छा क्लींजिंग प्रोडक्ट है ! तो यह शरीर की गन्दगी को बाहर निकालता है ! इसकी तासीर ठंडी है इस लिए भी यह लिकोरिया में उतम औषधि है !

14 त्वचा रोगों में लाभदायक | Wheatgrass benefits in Skin problems         

शरीर में जब भी खून की कमी होती है, या फिर किसी अन्य वजह से त्वचा सैल डेमेज हो जाते हैं ! तो शरीर का रंग काला होने लगता है ! चहरे पर झुरियाँ हो जाती हैं, चहरे का रंग काला होने लगता है ! कभी – कभी बाल भी झड़ने लगते हैं, चहरे की त्वचा ढीली हो जाती है ! जीससे आपकी उम्र कम समय में ही ज्यदा लगने लगती है !

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass इन सभी समस्याओं के लिए बहुत ही अच्छी औषधि का काम करते हैं ! आप इनका पेस्ट बनाकर भी चहरे पर लगा सकते हैं ! यह स्किन के डेमेज सैल को निकाल कर चहरे की रंगत को वापिस लौटा देता है ! आपका चहरा फिर से दमकने लगता है ! इसके आलावा यह डार्क सर्कल में साहयक है ! यह आँखों की लाली को ठीक करता है ! यह आँखों की ड्राइनेस को भी खत्म करता है !

15 बोडी डीटोक्स | Wheatgrass benefits in body detox       

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass बहुत ही अच्छे से बोडी को डेटोक्स करते हैं ! क्योंकि सबसे पहले एक तो इनका रंग हर है और इनमे लोरी की मात्रा भी संतुलित होती है ! इसमें सुगर की मात्रा भी बहुत ही कम होती है ! इसमें फाइबर एक अच्छी मात्र में उपलब्ध होता है ! जो हमारी कब्ज जैसी गम्भीर समस्या को खत्म कतरा है ! जिससे शरीर की सारी जमा गन्दगी बाहर निकल जाती है ! और शरीर साफ स्वच्छ और सुंदर बनता है ! इसके आलावा यह शरीर को जरूरी मिनरल और विटामिन तो देता ही है ! साथ में यह एक बहुत ही अच्छा न्यूट्रीशन भी है, जो हमारी बोडी और त्वचा को निखारने का काम भी कतरा है !

16 शुगर कि समस्या में लाभदायक  | Wheatgrass benefits in diabetes                                                                           

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass शुगर के मरीज के लिए बहुत ही अच्छे सभी होते हैं ! क्योंकि इने किसी भी तरह का शुगर नही पाया जाता, बल्कि इने कोई खास टेस्ट भी नही होता ! यह शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा शुगर को शरीर से बाहर निकले ने का काम करता है ! इसके न्यूट्रीशन शुगर के मरीज के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं ! यह शरीर को अच्छी उर्जा और ताकत देता है !

17 नशीली वस्तुओं के दुष्परिणाम से छुटकारा | Treatment of narcotic drugs side effects

वो भी व्यक्ति नशीनी चीजों का सेवन करते हैं, उन्हें हमेशा लीवर की समस्याओं से झुजना पड़ता है ! इसके अलावा कई बार बहुत अधिक मात्रा में स्टिरोइड का प्रयोग कर लेते हैं ताकि जल्दी से ठीक हो सकें ! लेकिन इसका शरीर पर बहुत अधिक दुष्प्रभाव पड़ता है ! जिससे कई बार मुह सूजना या फिर सभी जोड़ों में एंठन होना आदि समस्या हो जाती है, इन सभी समस्याओं में ये गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का रस बहुत ही लाभदायक है ! क्योंकि यह लीवर को इंप्रूवमेंट देता है और जिससे लाइव सुचारू रूप से काम करता रहता है !

18 ग्लुटन एलर्जी में लाभदायक | Wheatgrass benefits in gluten allergy                                                       

मित्रो यह इसका सबसे बढिया लाभ है ! आज कल बहुत से लोग ऐसे हैं जिनको गेंहूँ कि ही एलर्जी है ! उनको गेंहूँ या इससे बनी कोई चीज ही नही पचती ! ऐसे लोगों के लिए तो ये गेहूँ के ज्वारे wheatgrass किसी वरदान से कम नही ! तीन या चार महीने लगातार गेहूँ के ज्वारे  का रस पीने से, आपकी विट एलर्जी बिलकुल समाप्त हो जाती है ! और आप थोड़ी –थोड़ी गेंहू कि रोटी खाना शुरू कर सकते हैं ! कुछ समय बाद यह समस्या जड से समाप्त हो जाती है !

19 एसिडिटी या अम्ल्यता में लाभदायक | Wheatgrass benefits in acidity                                                    

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का रस एसिडिटी या अम्ल्यता को खत्म कर देता है ! क्योंकि यह तासीर में ठंडा और बहुत ही क्षारीय या एल्क्लाईन होता है ! जिससे यह पेट से सम्बंधित समस्याओं को दूर करता है, जैसे खट्टी डकारें आना, पी. एच. कि मात्रा की मात्रा को संतुलित रखना आदि काम यह बहुत ही अच्छे से कता है !

20 हार्ट कि समस्या के लाभदायक | Wheatgrass benefits in heart problems                                       

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass बहुत ही अच्छे डीटोक्सीफायर होते हैं, ये हर तरह के कचरे को शरीर से साफ कर देते हैं ! ये खून में  कोलेस्ट्रॉल को बैलेंस करते हैं और ज्यादा बढने भी नही देते ! इसके साथ साथ यह जूस मोटापे को भी बढने से रोकता है, और शरीर को स्वस्थ कर देता है ! इस लिए इसका भरपूर प्रयोग करना चाहिए !

इसे भी पढ़ें :- जाने लौकी, घिया के जूस के फायदे

गेहूँ के ज्वारे को उगाने की तरीका  | How to grow Wheatgrass

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass उगान बढ़ा ही आसान है, इसको आप अपने खेत या घर पर उगा सकते हैं ! जब आप गेंहू को मिटटी में बीजते हैं, तो यह तीन से पाँच दिनों में ही अंकुरित होने लगते हैं ! जब यह 6 से 10 इंच तक लम्बे हो जाते हैं तो इनको काट कर हम प्रयोग कर सकते हैं ! इनको कभी भी झड़ से ना उखाड़ें क्योंकि एक बार पैदा होने के बाद हम इससे तीन बार ज्वारे ले सकते हैं ! और फिर इसकी मिटटी को बदल लेना चाहिए ! तो ऐसा करके हम इसको आसानी से बहुत ही सस्ते में प्राप्त कर सकते हैं !

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass का रस या जूस लेने का सही समय |For right time to take Wheatgrass juice

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass को लेने का सबसे सही समय सुबह 10 बजे के बाद होता है ! आप इसको खाना खाने से पहले या फिर बाद में भी ले सकते हैं ! क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है, तो इसको श्याम या रात के समय लेना उचित नही ! कफ के मरीज भी इसका सेवन ना ही करें तो अच्छा है ! और यदि सेवन करना भी है तो उन्हें अधिक गर्मी में और सुबह के समय पर ही करना चाहिए !

गेहूँ के ज्वारे wheatgrass लेते समय सावधानियां | Precautions while taking wheatgrass juice

1 कफ के मरीज को इसका सेवन नही करना चाहिए !

2 गेहूँ के जवारे का रस हमेशा सुबह ही प्रयोग करें ! इसको आप सुबह खाली पेट या नाश्ते के बाद भी ले सकते हैं !

3 इसका हमेशा उचित मात्रा में ही सेवन करें ! ज्यादा सेवन करने से आपको उलटी, सिर दर्द, पेट दर्द या चक्कर                                        आदि की समस्या हो सकती है !

4 कई बार इसको पीने से लुज्मोसन भी हो सकते हैं, तो इसके लिए आप इसकी मात्रा को कम लें जिससे यह समस्या नही आएगी !

5  जब भी सेवन करना शुरू करें तो थोड़ी मात्र से शुरुआत करें ! और अगर यह जूस या रस आपको पचने लगे बी आप इसकी मात्रा बढ़ते जाएं !

6  आप इसको किसी भी रूप में यानि टेबलेट, पौडर या फिर लिक्विड आदि आवस्थाओं में ले सकते हैं !

आशा है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी, तो जनकल्याण के लिए इसे अपने Facebook और WhatsApp पर अवश्य शेयर करें !

एैसी ही अच्छी अच्छी जानकारी के लिए Like करें हमारे पेज Rajiv Dixit Patrika को।

और एैसी ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए ग्रुप ज्वाइन करें। जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें जीवन का आधार आयुर्वेद पर ! धन्यवाद  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2019 Rajiv Dixit Patrika |