दस्त या डायरिया को करें सिर्फ 15 मिनटों में बन्द घरेलू आसान इलाज

दस्त या डायरिया
Spread the love

दस्त या डायरिया को करें सिर्फ 15 मिनटों में बन्द ! घरेलू आसान इलाज

दोस्तो दस्त या डायरिया एक भयंकर और जानलेवा बीमारी है ! इस रोग का सम्बन्द पेट से है ! यह पाचनक्रियाओं के बिगड़ जाने से होता है, और डॉक्टर इसको अपनी भाषा में डायरिया और लूजमोशन लगना भी कहते हैं ! यह रोग खाने पिने में गलती से और कई बार मौसम की वजह से यानि ज्यादा गर्मी में लू लगने से और कई बार ज्यादा सर्दी के कारण भी दस्त हो सकते हैं ! यह रोग बच्चे, बुडे या फिर जवान किसी को भी हो सकता है ! सबसे ज्यादा खतरनाक यह छोटे बच्चों के लिए होता है ! अगर बच्चे को दस्त हो जाए तो कभी भी कोताही नही बरतनी चाहिए और उनको जितना जल्दी हो सके डॉक्टर को दिखाना चाहिए ! बिना किसी जानकारी के दस्त की दवा लेना उल्टा पड़ सकता है ! लम्बे समय तक दस्त होने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है ! और शरीर की शक्ति खत्म हो जाती है जिससे मरीज को डिहाईड्रेशन हो जाता है ! मरीज को होस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ सकता है ! लेकिन यदि अपना सही ध्यान रखा जाए तो इससे बच सकते है, तो आइये जान लेते हैं कि हमे क्या करना चाहिए ….

दस्त का आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार :-

दस्त के रोगी को पानी की सही मात्रा का सेवन बहुत आवश्यक है ! क्योंकि दस्त की वजह से शरीर का पानी बाहर निकल जाता है और शरीर स्थिल हो जाता है ! दस्त या डायरिया में ओ. आर. एस. (ORS) का घोल भी बहुत ही लाभदायक होता है यह शरीर में पानी की मात्रा को तो पूरा करता ही है साथ में शरीर की खोई एनर्जी भी वापिस लाता है !  दस्त या डायरिया के कुछ और उपाय जान लेते हैं जो हम अपने घर पर ही कर सकते हैं !

  1. दस्त या डायरिया को ठीक करने की यह सबसे लोकप्रिय औषधि है इसबगोल ! यह कब्ज और दस्त दोनों रोगों में काम आती है ! और इसको लेना भी बहुत आसान है, इसबगोल को एक कप पानी में 3 से 4 चम्मच और थोड़ी मिश्री मिलाकर 5 मिनट बाद इसका सेवन करें! एक या दो बार एैसा करने से दस्त बिलकुल बन्ध हो जाते हैं ! यह औषधि बहुत सस्ती है, और लग भग रह क्रयणे और दवाई की दुकान पर आसानी से मिल जाती है !
  2. दस्त को ठीक करने के लिए आधा गिलास गाय का कच्चा दूध और आधा निम्बू ! दूध में निम्बू निचोड़कर फटने से पहले एकदम से पीने से भी दस्त या डायरिया ठीक हो जाता है ! इस औषधि की एक ही खुराक काफी है दुबारा लेने की जरूरत नही पडती !
  3. दस्त को ठीक करने की एक और औषध हमारे रसोई घर में उपलब्ध है ! वो है जीरा जिसका हम मसाले के रूप मे भी प्रयोग करते हैं ! आधा चमच जीरा चबाके खाना और उपर से एक गिलास गुन गुना पानी पी लें ! इससे बहुत जल्दी ही डायरिया डिसेंट्री कंट्रोल हो जाता है  !
  4. कुछ अन्य उपाय

  5. चार से पाँच छोटी इलायची को 4 कप पानी में अच्छे से उबल लें, इसको इतना उबालें कि यह पानी तिन कप रह जाए ! और इसको ठंडा करके रह चार घंटे के अन्तराल पर पीयें, तो यह एक दिन में ही दस्त को ठीक कर देता है !
  6. आयुर्वेद में इसके लिए एक और औषध है ! जामुन के पेड़ के सूखे पत्ते इन पत्तों को बारीक पीस लें और एक चोथाई चमच काला नमक या सेंधा नमक मिलाकर दिन में दो बार लें, यह दस्त या डायरिया को बिलकुल बन्द कर देता है !
  7. जिनको को भी दस्त हुए हैं उनको कोई भी हैवी या मसले दार खाना नही खाना चाहिए ! डायरिया के रोगी को हमेशा चावल, किछडी और दहीं व लस्सी का ज्यादा प्रयोग करना चाहिए ! और उनको फलों में ज्यादा केले का ही प्रयोग करना चाहिए !

बच्चों में दस्त या डायरिया के कारण :-  

बच्चों में डायरिया को कभी भी हल्के में नही लेना चाहिए क्योंकि यह बहुत ही खतरनाक बीमारी है ! कई बार डायरिया की वजह से बच्चे की जान भी चली जाती है ! बच्चों में डायरिया के होने का मुख्य कारण “रोटावायरस” होता है ! यह विषाणु बच्चे की आंतड़ियों को संक्रमित करता है ! जिससे बच्चे में गेस्ट्रोएंटेराईटिस हो जाता है और यह अंदरूनी अंतड़ियों को नुकसान पहुचाता है, जिस कारण भोजन बिना पचे ही बाहर आने लगता है ! यह रोग छह महीने से दो साल की उम्र के बच्चों को ज्यादा होता है !

बच्चों के दस्त या डायरिया का उपचार कैसे करें :-

जब भी आपको दस्त का खरता महसूस हो तो अपने आसपास की सफाई को हमेशा ध्यान में रखें, क्योंकि डायरिया का मुख्य कारण ही यह है ! अगर सफाई अच्छी हो तो डायरिया के फैलने के चांस बहुत ही कम होते हैं यदि आपके बच्चे को दस्त हो गये है ! तो घबराएं नही, यह उचित इलाज से 3 से 5 दिन में ठीक हो जाता है ! बस इस बात का ध्यान रखें की आपका बच्चे को उचित मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करवाते रहें ! यदि एैसा नही करते तो उसके शरीर में पानी की कमी ( Dehydration ) हो सकती है ! अगर आपका बच्चा ज्यादा छोटा है तो उसको स्तनपान करवाना बन्द न करें !

दस्तों में बच्चों को हमेशा पानी उबालकर कर व ठंडा करके ही पिलाना चाहिए ! आप पानी में ( ORS ) यानि “ओरल रिहाईड्रेशन सोलुशन” घोल के पिलाया जासकता है ! जिससे बच्चे की एनर्जी बनी रहती है ! और विकनैस कम आती है !

अगर आपका बच्चा पानी ठीक से नही पीता तो आप पानी मे कुछ चीनी और सोंफ मिलाकर उस पानी को अच्छे से उबाल लें ! ठंडा करके किसी साफ बर्तन में रख लें, आपका बच्चा जब भी पानी मांगे तो उसे ये ही पिलाएं इससे डायरिया में बहुत जल्दी आराम मिलता है !

कभी भी जब बच्चों में डायरिया या दस्त हो जाते है ! तो कभी भी खुद से कोई भी एंटी डियररियल दवा ने दें क्योंकि यह भयानक दुष्प्रभाव कर सकती है ! बिना डॉक्टर की सलाह के शिशु व बढ़े बच्चों को कोई भी दवाई नही देनी चाहिए ! अगर आपको कब्ज है तो घरेलू व आसान इलाज जाने 

अधिक जानकारी के लिए राजीव दीक्षित जी का यह वीडियो देखें >>

मित्रो जन कल्याण के लिए इस जानकारी को अपने Facebook और WhatsApp पर जरुर शेयर करें धन्यवाद !

एैसी ही अच्छी – अच्छी जानकारी के लिए Like करें हमारे पेज Rajiv Dixit Patrika को।

और एैसी ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए ग्रुप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें जीवन का आधार आयुर्वेद पर ! धन्यवाद

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2019 Rajiv Dixit Patrika |