Bee Sting, Scorpion sting | मधुमक्खी और बिच्छू  के काटने पर होम्योपैथीक व घरेलू उपचार

Bee Sting, Scorpion sting दोस्तों कई बार हमे बहुत से जहरीले कीड़े काट
Spread the love

Bee Sting, Scorpion sting | मधुमक्खी और बिच्छू  के काटने पर होम्योपैथीव घरेलू उपचार  

 Bee Sting, Scorpion sting दोस्तों कई बार हमे बहुत से जहरीले कीड़े काट लेते हैं, जैसे कि मधुमक्खी, बिच्छू व तत्या आदि! इनके अलावा और भी बहुत से कीड़े हैं, जो डंक मरते हैं !  डंक त्वचा के अंदर ही छोड़ देते हैं, और इस डंक को हम किसी भी चीज से निकाल नही   पाते ! इन एैसे कीड़ों के काटने से असहनीय दर्द तो होता ही है, और कई बार तो शुजन भी आ जाती है !  असहनीय खुजली और जलन भी हो सकती  है !

Bee Sting, Scorpion sting मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काटने पर घरेलू उपचार |

मित्रो क्योंकि इसके लिए हम पहले से तैयार नही होते, क्या पता कब आपको ये Bee Sting, Scorpion sting मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काट जाए ? इसके लिए हम घर रखे कुछ चीजें प्रयोग करके हम अपना बचाव कर सकते हैं, जो इस प्रकार से  हैं !

1 जो सबसे पहले करने योग्य काम है वो है मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या के काटने Bee Sting, Scorpion sting पर तुरंत कांटे या स्टिंग को तुरंत निकल देना चाहिए ! एैसा करने से सुजन, जलन और दर्द कम हो जाता है !

2  एलोविरा जैल का प्रयोग भी मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काटने Bee Sting, Scorpion sting पर प्रयोग करने से आराम मिलता है ! थोडा एलोविरा जैल या जूस निकल कर कटे हुए स्थान पर लगाएं ! इससे सुजन कम हो जाती है, और खुजली तो बिलकुल ही खत्म हो      जाती है !

3 पर्याप्त पानी का सेवन करें !

4 कोलगेट या कोई भी टूथपेस्ट जो सभी के घर पर होता है, उसका प्रयोग भी कर सकते हैं ! इसकी थोड़ीसी मात्र काटे गये स्थान पर लगाएं ! इससे जहर नही फैलता और दर्द व सुजन भी कम हो जाती है !

5 मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काटने Bee Sting, Scorpion sting पर अधिक दर्द से बचने के लिए बर्फ का प्रयोग भी कर सकते हैं ! काटे हुआ स्थान पर बर्फ लगाने से ठंडक मिलती है और ठंडा होने कि वजह से खून का प्रवाह कम हो जाता है जिससे जहर फैल नही पाता और सुजन को भी खत्म करता है !

मधुमक्खी, बिच्छू  और तत्या के काटने Bee Sting, Scorpion sting पर एलोपेथिक इलाज :-

जब कभी हमे मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काट Bee Sting, Scorpion sting जाए तो हम डॉक्टर के पास जाते हैं ! इस पर डॉक्टर कहते हैं कि इस डंक को काट कर निकालना पड़ेगा, इसका और कोई इलाज नही ! या फिर आपको हैवी स्टेरॉयड दिए जाते हैं ! जिससे मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काटने Bee Sting, Scorpion sting पर होने वाले दर्द, सुजन और जलन को कम किया जा सके ! कई बार दर्द व सुजन तो कम हो जाती है, लेकिन कोई अन्य समस्या पैदा हो जाती है ! जिसका परिणाम हमे लम्बे समय तक भुगतना पड़ता है !

इसे भी पढ़ें :- सांप के काटने पर क्या करें ?

मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या के काटने पर होम्योपैथीक उपचार :-

मित्रो एलोपेथि के विपरीत होम्योपैथी में मधुमक्खी, बिच्छू और तत्या काटने Bee Sting, Scorpion sting पर, सबसे अच्छा उपचार उपलब्ध है ! होम्योपैथी में एैसी दवा जो किसी भी तरह के काटने पर या डंक मरने पर  कांटे को अपने आप बाहर निकाल देती है ! उस दवा का नाम है “SILICEA 200” 200 इसकी पोटेंसी है ! यह एक होमयोपैथिक दवाई है, यह लिक्वीड फोम में आती है ! और यह दवाई नदी की मिटटी से बनाई जाती है, इसमें थोडी बालू भी होती है ! जिस किसी को भी मधुमक्खी और बिच्छू, तत्या या फिर कोई भी डंक वाला कीड़ा काट जाए ! और डंक अंदर ही छोड़ जाए, तो आप ये दवा प्रयोग कर सकते हैं !

इसकी dose या मात्रा है :- एक – एक ड्राप 10 -10 मिनट के अन्तराल पर देना है ! यह बहुत तेज दर्द निवारक भी है ! इसके देने के कुछ समय बाद आप देखेंगे की डंक अपने आप बाहर निकल आएगा !

Bee sting information in english

सिलाई मशीन कि सुई चुब्ने पर क्या करें |

कई बार सिलाई मशीन में धागा डालते समय सुई चूब जाती है ! और कई बार तो अंदर भी टूट जाती है ! इसको निकाल ने में बहुत दर्द होता है ! तो इसके लिए भी आप “SILICEA 200” यह  दवा प्रयोग कर सकते हैं ! देने का वही तरीका है एक –एक ड्राप 10 -10 मिनट के अन्तराल पर ! इसके देने के बाद आप देखेंगे की चुबी हुई सुई अपने आप बाहर निकल आएगी ! आप इसको उठाकर एक तरफ रख सकते हैं, इतनी कमाल की है ये दवा ! सिर्फ और सिर्फ 3 डोज में ही आप मरीज को ठीक कर सकते हैं, और उसका दर्द भी खत्म कर सकते हैं !

इसके अलावा हमारे पास कई और उदहारण हैं, जैसे की गोली लगना या बम के छररे त्वचा में घुस जाना ! कई बार गोली एैसी जगह लग जाती है, कि कोई डॉक्टर उसको निकाल नही पाता ! जैसे की जोड़ों के बिच में, दिल के पास या लीवर के पास एैसी स्थिति में बड़े से बड़े डॉक्टर भी जवाब दे देते हैं कि हम यह गोली नही निकाल सकते ! और इस मरीज को सारी उम्र ऐसे ही जीना पड़ेगा यह कहकर छोड़ देते हैं ! लेकिन “SILICEA 200”  में इसको बाहर निकालने की अक्षमता होती है !

SILICEA 200 का राजीव दीक्षित जी द्वारा प्रयोग :-

राजीव दीक्षित जी ने सैनिकों का सफल इलाज किया था !  जब “लेह – लदाख” का युद्ध हुआ था ! तब बहुत से सैनिकों को बम के छरे पीठ में टांगों में और बहुत सारी जगहों पर घुस गये थे ! जब सैनिकों को डॉक्टरों को दिखाया गया तो डॉक्टरों ने कहा कि ये छररे नही निकल सकते ! और आप को सारी जिन्दगी एैसे ही जीना होगा ! हम सिर्फ दर्द को रोकने के लिए पेनकिलर दे सकते हैं, और कुछ नही कर सकते ! तो राजीव भाई ने बहुत से सैनिकों को इसी दवाई से ठीक किया !

तो दोस्तों अगर किसी को काँटा चुभ जाए, या काँच चुभ जाए, या कोई और चीज चुभ जाए, या काट जाए तो आप इस दवा का प्रयोग कर सकते हैं ! यह दवाई बहुत सस्ती भी है सिर्फ 10 और 20 रूपये की ५ ml आती है और इससे आप 50 आदमीयों को ठीक कर सकते हो ! और किसी गरीब की जान और पैसा दोनों बचा सकते हो !

अधिक जानकारी के लिए राजीव दीक्षित जी का यह वीडियो देखें >>

दोस्तों आशा है कि आपको यह Bee Sting, Scorpion sting की जानकारी अच्छी लगी होगी ! इसका प्रयोग करके आप किसी का जीवन और पैसा दोनों बचा सकते हो ! पूरा पोस्ट पढने के लिए धन्यवाद !

जनकल्याण के लिए इसे अपने Facebook और WhatsApp पर अवश्य शेयर करें !

एैसी ही अच्छी अच्छी जानकारी के लिए Like करें हमारे पेज Rajiv Dixit Patrika को।

और एैसी ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए ग्रुप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें जीवन का आधार आयुर्वेद पर ! धन्यवाद  

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2019 Rajiv Dixit Patrika |