जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे

जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे बहुत सारे बताए गये
Spread the love

जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे

दोस्तों अगर आप खाना खा रहें हैं तो हमेशा बैठकर ही खाना चाहिए क्योंकि खड़े होकर खाने का नियम जानवरों के लिए है मनुष्यों के लिए  नहीं ! लेकिन हर जगह आज कल खाना खाने के लिए डाईनिंग टेबल और कुर्सी का ही प्रयोग किया जाता है ! और लोग इस डाईनिंग टेबल और कुर्सी को घर की शान समझते हैं ! अब लोग जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे नही जाते और एैसा करने में शर्म महसूस करते हैं, उन्हें एैसा लगता है कि अगर वे जमीन पर बैठकर खाना खाएंगे तो उनकी पर्सनल्टी डाउन हो जाएगी ! तो वे अपनी शान को बढ़ाने के लिए डाईनिंग टेबल व कुर्सी पर बैठकर ही खाएंगे चाहे कुछ भी हो जाए ! आइये जान लेते हैं कि जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे क्या क्या होते हैं ? और एैसे बैठकर ही क्यों खाना चाहिए ?

खाना हमेशा जमीन पर बैठकर क्यों खाना चाहिए :-

आयुर्वेद के अनुसार जमीन पर बैठकर खाना खाने के बहुत फायदे होते हैं ! मित्रो मनुष्य का जो शरीर है वो बैठकर खाना खाने के लिए ही बना है ! और जो पशु हैं वो खड़े होकर खा सकते है ! इसके पीछे बहुत बड़ा लोजिक है ! पशुओं की जो सेंटर ऑफ़ ग्रेवटी है, वह मनुष्य से बहुत भिन्न है ! क्योंकि पशु चार पाँव पर चलता है, और खड़ा भी चार पाँव पर ही होता है ! लेकिन इसके विपरीत मनुष्य दो पाँव पर चलता है, टांग मोस कर बैठता है ! इस लिए मनुष्य की सेंटर ऑफ़ ग्रेवटी अलग है !

जब आप बैठते है तो आपको यह खड़े होने से ज्यादा आराम दायक लगता है ! क्योंकि बैठने से आपके शरीर की सेंटर ऑफ़ ग्रैवटी बदल जाती है ! जब आप खड़े होकर खाना खाते हो, तो प्रथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल आप पर बहुत ज्यादा होता है ! इस बल का काम सभी को आपनी और खीचने का होता है ! जससे खाना एकदम निचे उतर जाता है !

लेकिन नियम क्या कहता है ? कि खाना धीरे – धीरे से पेट में जाना चाहिए ! खड़े होकर खाने से यह जल्दी से निचे उतर जाता है, अब जो ये जल्दी से उतरा हुआ खाना है, इसमें लार की मात्रा जो आहार नली से मिलती है वो कम हो जाती है ! तो इससे पाचने में बहुत संकट हो जाता है ! जो खाना हम बैठकर खाते हैं, यदि हम उसको खड़े होकर खाएं तो अधिक समय लगता है ! और एैसे खाने को पचाने में शरीर को भी बहुत ज्यादा दिकत आती है ! इसलिए हमारे ऋषियों ने आयुर्वेद में नियम बनाया है, कि हमे केवल जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे ही प्राप्त होते हैं ! इस लिए खड़े होकर खाना हमारे लिए उचित नही  !

खाना खाने के लिए बैठने की सही पोजीशन :-

अगर जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे हमे चाहिए, तो बैठने की सही स्थिति का भी हमें पता होना चाहिए ! आप कहेंगे की हम तो हमेशा बैठकर ही खाते है, लेकिन कुर्सी पर ! बैठने की यह सही अवस्था नही ! आयुर्वेद के अनुसार खाते समय बैठने की जो स्थिति है वो सुखासन को सबसे ज्यादा सही माना है ! यानि आलती पालथी या चोंकड़ी मारकर बैठना ही सबसे अच्छा होता है ! जो ये कुर्सी पर बैठकर खाने का नियम है, वो हमारा नही वो यूरोप का है !

क्योंकि यूरोप और भारत में बहुत अंतर है ! जो है मौसम का वहाँ ठण्ड बहुत होती है ! वहाँ लगभग पूरी साल ठण्ड रहती है ! कई बार तो इतनी अधिक ठण्ड होती है की तापमान -40 तक चला जाता है ! और लगातार आठ – आठ महीने सूरज नही दीखता ! तो जहाँ ठण्ड अधिक होती है वहाँ के लोगों में (Synovial Fluid) सनोविय्ल फ्ल्युड नही बनता ! यह सनोबिय्ल फ्ल्युड हमारी हड्डियों को घर्षण से बचाता है ! यह फ्ल्युड हमारे शरीर के हर एक जोड़ या (Joints) में होता है ! सनोविय्ल फ्ल्युड शरीर में एैसे ही काम करता है, जैसे गाड़ियों में मुब्लोय्ल तेल काम करता है ! तो जो अत्यधिक ठण्ड वाले देश है, वहां के लोगों में यह सनोबिय्ल फ्ल्युड कम बनता है ! जिस कारण वो जल्दी से बैठ और उठ नही सकते ! इसलिए वे लोग कुर्सी पर बैठकर या फिर खड़े होकर खाना खाते हैं !

डाइनिंग टेबल कभी ना खरीदें

जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे से वंचित रहते हैं ! तो अब आप सोचेंगे की डाइनिंग टेबल का क्या करें,  इसके लिए बहुत आसन उपाय है ! इसको बेच दो या फिर इसके पाँव को काट दो ! यह एक सपाट पटड़ा बन जाएगी, और आप इस पर पलाथी मारकर आराम से बैठकर खाना खा सकते हैं ! इसके अलावा यह डाइनिंग टेबल बेकार का होता है ! यह सिर्फ दिन में एक घंटे ही मुस्किल से ही प्रयोग होता है, और यह घर में बहुत अधिक जगह भी घेरता है ! इसको बेचने से आपके घर में जगह भी खुल जाएगी, आपका पैसा भी बच जाएगा इसलिए  डाइनिंग टेबल कभी मत खरीदें !

जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे और भी बहुत हैं  

मित्रो आयुर्वेद में जमीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे बहुत सारे बताए गये हैं ! जब भी हम पलाथी मर कर बैठते हैं तो हमारी रीड की हड्डी पर निचे की तरफ जोर पड़ता है ! जो हमारे लिए बहुत आराम दायक होता है, इस लिए एैसे बेठने से हमे रिलेक्स महसूस होता है !

पलाथी मारकर बैठना अपने आप में किसी व्यायाम से कम नही ! सुखासन की स्थिति में बैठने से मासपेशियों में खिचाव भी कम होता है !जिससे हमारा रक्तचाप भी ठीक रहता है, जिससे आप हाई और लो दोनों बी.पी की समस्या से भी बच जाते हैं !

इसे भी पढ़ें :- खून की सारी गन्दगी को साफ कर देता है यह आसान उपाय 

जमीन पर बैठकर खाना खाने से पाचन शक्ति बढती है 

जब आप जमीन पर बैठकर खाते हैं, तो इससे आपकी पाचनक्रिया भी सही ठंग से काम करती है ! जिससे सारा भोजन आसानी से पच जाता है ! इससे आपके दोनों काम हो जाते है, यानि आप खाना भी खालेते हैं, और साथ में व्ययाम भी हो जाता है ! जमीन पर बैठने से शारीरिक तनाव के साथ – साथ मानसिक तनाव भी कम हो जाता है ! इससे आपका सारा शरीर स्वस्थ हो जाता है !

दिल मजबूत बनता है :- जब आप जमीन पर बैठकर खाते हैं, तो इससे ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है। इस तरह दिल बड़ी आसानी से पाचन में मदद करने वाले सभी अंगों तक खून पहुंचाता है !

अधिक जानकारी के लिए राजीव दीक्षित जी यह वीडियो देखें >>

आशा है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी, तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook और WhatsApp पर अवश्य शेयर करें !

एैसी ही अच्छी – अच्छी जानकारी के लिए Like करें हमारे पेज Rajiv Dixit Patrika को।

और एैसी ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए ग्रुप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें जीवन का आधार आयुर्वेद पर ! धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2020 Rajiv Dixit Patrika |